जीवन परिचय

अरुण गवली का जीवन परिचय (ARUN GAWALI BIOGRAPHY IN HINDI )

अरुण गवली का जीवन परिचय (ARUN GAWALI BIOGRAPHY IN HINDI )
Written by Jagdish Pant

अरुण गवली का जीवन परिचय (ARUN GAWALI BIOGRAPHY IN HINDI )

अरुण गवली का जीवन परिचय व इतिहास  (Arun Gawali Biography (jivani) History ,Cast In Hindi )

अरुण गवली का पूरा नाम अरुण गुलाब अहीर है अरुण गवली का जन्म 17 जुलाई 1955 में कोपरगाँव अहमदनगर जिला में हुआ था अरुण गवली के परिवार में माता पिता और एक भाई था अरुण गवली के पिता का नाम गुलाब राव और माता का नाम लक्ष्मीबाई था भाई  का नाम बाप्पा था अरुण गवली ने महाराष्ट्र के विधान सभा सदस्य आशा गवली से विवाह किया और इस विवाह से अरुण गवली को एक बेटा और एक बेटी हुई |  बेटी का नाम गीता गवली और बेटे का नाम महेश गवली था
अरुण गवली के भाई की मृत्यु जल्दी हो गई थी अरुण गवली का एक भतीजा था जिसका नाम सचिन अहीर था जो एक विधायक होने के साथ साथ पूर्व राज्य गृह मंत्री भी था अरुण गवली का एक चाचा भी था जिसका नाम हुकुमचंद यादव था जो मध्यप्रदेश के खंडवा से विधायक थे

अरुण गवली की शिक्षा (Arun Gawali Education)

1950 के दशक में परिवार की खराब स्थिति के कारण अरुण गवली ने 5 वीं कक्षा तक  की शिक्षा प्राप्त की इसके बाद वह आसपास के गाँव में दूध बेचकर अपने परिवार का भरण पोषण करने लगा

अरुण गवली का करियर (Arun Gawali career )

अरुण गवली के करियर के बारे में नीचे बताने वाले है

  • अरुण गवली ने मुंबई के कपड़ा मील में काम किया
  • अरुण गवली और उसके भाई ने 1970 में मुंबई अंडरवर्ल्ड में प्रवेश किया इसके बाद वह बयकुल्ला कंपनी में शामिल हो गए और अवैध शराब का कारोबार करने लगे
  • 1970 से 1980 के दशक में कपड़ा मिल उद्योग पर हमला करके और हफ्ता वसूली करके जल्दी से पैसे कमाने के लिए  इन गतिविधियों में शामिल हो गए
  • 1984 में रामा नाइक ने दाऊद इब्राहिम के प्रतिद्वन्दी समद खान को मारने में रामा नाइक की मदद की
  • 1998 में एक पुलिस मुठभेड़ में रामा नाइक की मृत्यु हो गई जिसके बाद अरुण गवली ने इस अपराधिक गिरोह पर कब्जा कर किया एक बार अरुण गवली और दाऊद इब्राहीम के डी-कम्पनी गिरोह के साथ युद्ध शुरू हो गया था

राजनीति में प्रवेश (Political Career)

1980 के दौरान जब पुलिस ने अरुण गवली और साईं बानोद के खिलाफ करवाई करने लगी तो उस समय शिवसेना प्रमुख बाल ठाकरे ने मुंबई पुलिस की आलोचना की इस बात से यह पता चलता है की अरुण गवली को राजनितिक संरक्षण प्राप्त  था अरुण गवली 1990 के बाद शिवसेना से अलग हो गए थे इसके बाद अरुण गवली ने कई शिवसेना के लोगों की हत्या कर दी और बाद में अपनी एक पार्टी का गठन किया जिसका नाम अखिल भारतीय सेना था

अरुण गवली का विवाद ( Arun Gawli controversy )

  • 2007 में अरुण गवली ने शिवसेना के मेयर कमलाकर जमसंदेकर की हत्या के लिए सुपारी देने का आरोप  लगा
  • 1986 में कोबरा गिरोह के अपराधी पारसनाथ पांडये और सशी राशम के हत्या का आरोप अरुण गवली पर लगा

अरुण गवली पर फिल्में ( Arun Gawli Movie)

अरुण गवली के जीवन में 2015 में एक मराठी फ़िल्म दगडी चौल बनी और अरुण गवली का किरदार मकरंद देशपांडे ने बहुत अच्छी तरह निभाया
2017 में अरुण गवली के जीवन पर एक और फ़िल्म बनी जिसका नाम डैडी था और इस फ़िल्म में अरुण गवली का किरदार अर्जुन रामपाल ने निभाया था

उम्रकैद की सजा काट रहे मुंबई के डॉन अरुण गवली ने गांधी जी पर आधारित परीक्षा में किया टॉप

2017 में अरुण गवली ने गांधी जागरूकता परीक्षा में टांप किया अरुण गवली ने 80 सवालों में से 74 सवालों का सही जवाब किया वर्तमान में अरुण गवली नागपुर सेंट्रल जेल  में उम्रकैद की सजा काट रहा है

अरुण गवली के बारे में कुछ रोचक बाते | Arun Gawli unknown facts

भयंकर और सबसे डरावनी तिकड़ी :  रमा नाइक , बाबु रेशीम और अरुण गवली ने मिलकर बायकुल्ला गैंग  की शुरुवात की इन तीनों  ने  मिलकर अंडरवर्ल्ड की दुनिया में बहुत समय तक राज किया
दिल से एक सच्चा प्रेमी : अरुण गवली पहले से ही जुबैदा मुजावर नामक लड़की से प्रेम करते थे परिवार के खिलाफ जाकर अरुण गवली ने जुबैदा मुजावर से शादी कर ली| गवली के करीबी दोस्त इस शादी से खुश नही थे
नया बॉस :  1988 के पुलिस एनकाउंटर में रमा नाइक के मर जाने के बाद अरुण गवली ने गैंग की कमान अपने हाथ में ले ली थी

अंतिम राय

दोस्तों आज हमने आपको अरुण गवली का जीवन परिचय व इतिहास  (Arun Gawali Biography (jivani) History ,Cast In Hindi ) , अरुण गवली की शिक्षा (Arun Gawali Education) , अरुण गवली का करियर (Arun Gawali career ) ,अरुण गवली के बारे में कुछ रोचक बाते ( Arun Gawli unknown facts) के बारे में अधिक से अधिक जानकारी देने का प्रयास किया है
आपको यह लेख कैसा लगा नीचे comment कर के जरुर बताइए अगर अभी भी कोई सवाल आप पूछना चाहते हो तो नीचे Comment Box में जरुर लिखे | और कोई सुझाव देना चाहते हो तो भी जरुर दीजिये |  अगर अभी तक आपने हमारे Blog को  Subscribe नहीं किया  हैं तो जरुर Subscribe करें | जय हिंद, जय भारत, धन्यवाद

About the author

Jagdish Pant

Leave a Comment

%d bloggers like this: