Uncategorized

चाणक्य के बारे में 12 रोचक तथ्य -8

चाणक्य के बारे में 12 रोचक तथ्य -
Written by Vinod Pant

आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से चाणक्य के बारें में 12 रोचक तथ्य  के बारें में बताने का प्रयास करेंगे ?

  • चाणक्य का जन्म 371 ईसा पूर्व हुआ था | इनके पिता का नाम ‘चणक ‘ था जो एक अध्यापक थे , यही से उनका नाम चाणक्य पड़ा | चाणक्य का गोत्र कौटल्य था यही से चाणक्य का दूसरा नाम कौटल्य  पड़ा था | चाणक्य के पिता ने चाणक्य का नाम विष्णुगुप्त रखा था |
  • आचार्य चाणक्य ने तक्षशिला यूनिवर्सिटी से शिक्षा ग्रहण किई थी , यही से चाणक्य शिक्षक बने | चाणक्य को बचपन से ही राजनीति में बहुत रूचि थी |
  • जब चाणक्य शिक्षक बने उसके बाद पाटिलपुत्र चले गए थे , जहाँ जाकर चाणक्य मगध सम्राज्य के नंद वंश के न्यायालय विद्द्वान बने | एक दिन चाणक्य और राजा धनानंद के बीच लड़ाई हो गयी , जहां राजा ने चाणक्य की न्यायालय में बेज्जती कर दी , तब से ही चाणक्य ने अपनी चोटी खोल दी , और ये प्रतिज्ञा ले ली की जब ता नंद सामराज्य का अंत नहीं कर दूंगा तब तक चोटी नहीं बांधुगा |
  • इसके बाद , चाणक्य ने  ने चन्द्रगुप्त मौर्य को चुना  और मात्र 15 साल की उम्र में उसे सत्ता में उतार दिया , यही से मौर्य सम्राज्य की शुरुवात हुयी , जो बाद में राजा धनानंद की हार का कारण बना , चाणक्य की राजनीति में अच्छी पकड़ होने के कारण वो भारत में मौर्य सम्राज्य के सबसे बड़े शासक कहलाये |
  • चाणक्य कूटनीति में माहिर थे , वो ऐसे दांव खेलते थे की चाहे स्थिति कैसी भी ही उस व्यक्ति का बचाव पक्का था |
  • चाणक्य को खगोल विज्ञान और दवा के बारें में भी पूरी जानकारी थी , इसके साथ ही चाणक्य को समुंद्र शास्त्र में भी महारत हासिल थी , चाणक्य किसी भी व्यक्ति के मुँह के भावो के देखकर ये बता देते थे की वो व्यक्ति किस बारें में सोच रहा है |
  • चाणक्य हमेशा कहा करते थे महिलाओं पर कभी भी भरोसा नही करना चाहिए | महिलायें कम नैतिक चरित्र और झूठ बोलने वाली होती है , लेकीन ये हर महिला पर लागु नहीं होता है | चाणक्य के अनुसार एक महिला वह है , जो पवित्र है , घर के कामों में निपुण और अपने पति के लिए सच्ची और ‘वफादार’ हो | चाणक्य ने ये कभी भी नहीं कहा था की हर महिला बुरी है और हर पुरुष अच्छा है |
  • चाणक्य की नीति इतनी निपुण थी की आज भी दुनिया और भारत देश के नेता विदेश के संबंधो को सुधारने के लिए इसका इस्तेमाल करते है |
  • चाणक्य ने सिकंदर महान से लड़ने के लिए सभी राज्यों को एकजुट किया था, चाणक्य ने युवा लड़कियों की एक सेना भी बनायीं थी जिसका नाम उन्होंने विषकन्या रखा था  | चाणक्य ने इन  लड़कियों को दुश्मनों को मारने और दुश्मनों को चूमने  के लिए प्रयोग किया था , इन लड़कियों के चुम्बन में भी जहर होता था |
  •  आचार्य चाणक्य चन्द्रगुप्त को खाने के साथ थोडा -थोडा जहर भी दिया करते थे , जिससे दुश्मन के जहरीले हमलो का उस पर कोइ असर न हो (मतलब खाने में जहर का कोइ असर न हो) | एक बार चन्द्रगुप्त ने अपने खाने को अपने पत्नी के साथ साझा कर लिया , चन्द्रगुप्त की पत्नी पेट से थी , खाना खाने के बाद चन्द्रगुप्त की पत्नी मर गयी | लेकिन चाणक्य ने उसका पेट फाड़कर बच्चे को निकाल  लिया | बाद में चाणक्य ने इस पुत्र का नाम बिन्दुसार रख दिया |
  • चन्द्रगुप्त अपने जिंदगी के आखरी दिनों में तपस्या में लीन हो गए , और अपने राज्य को अपने पुत्र बिन्दुसार को सौप दिया ,यहाँ भी चाणक्य बिंदुसार के सलाहकार बने रहे |

अंतिम राय-

आज हमने  आपको इस आर्टिकल के माध्यम से  चाणक्य के बारे में 12 रोचक तथ्य के बारें में अनेक महत्वपूर्ण जानकारी दी |

आपको यह लेख कैसा लगा नीचे comment कर के जरुर बताइए अगर अभी भी कोई सवाल आप पूछना चाहते हो तो निचे Comment Box में जरुर लिखे | और कोई सुझाव देना चाहते हो तो भी जरुर दीजिये |  अगर अभी तक आपने हमारे Blog को  Subscribe नहीं किया  हैं तो जरुर Subscribe करें | जय हिंद, जय भारत, धन्यवाद

About the author

Vinod Pant

1 Comment

  • Ꮐreetings from Florida! I’m bored to tears at work so I decideԁ to browse your site on my iphone during ⅼunch
    break. Ι enjoy the information you provide here ɑnd can’t wait to take
    a look when I get home. I’m sһocked at how quick your blog loaded
    on my mobile .. I’m not eνen using WIFI, just 3G .. Anyhow, fantastic site!

Leave a Comment

%d bloggers like this: