Uncategorized

बीसीए (BCA) क्या है कैसे करे

Written by Vinod Pant

बीसीए (BCA) क्या है कैसे करे

10 वी हो या 12 वी दोनों ही कक्षाओं के परिणाम के बाद  छात्रों को अपने भविष्य को लिकर चिंता बड जाती है .जहां 10 के बाद छात्र ये  नहीं समझ पाते की उन्हें 11 वी कक्षा के लिए कोण से विषय लेने चाहिए वही 12वी पास के बाद भी छात्र ये निर्णय नहीं ले पाते की उन्हें किस क्षेत्र में आगे बदना चाहिए या कौन से ऐसे विषय लेने चाहिए जिसके माध्यम से वो आगे चलकर अपना एक शानदार करियर बना सके .

आज के समय की बात करें तो आज के समय में ज्यादातर छात्र 12 वी पास के बाद कंप्यूटर की फील्ड में जाना चाहते है ऐसे में जो छात्र आगे चलकर कंप्यूटर के क्षेत्र में आपना शानदार करियर बनाना चाहते है तो उसके लिए  बीसीए कोर्स   (BCA Course) एक अच्छा option हो  सकता है .

बीसीए कोर्स क्या है पूरी जानकरी ? What is BCA Course information in hindi

बीसीए (BCA) की फुल फॉर्म –

बीसीए की फुल फॉर्म  बैचलर ऑफ़ कंप्यूटर एप्लीकेशन (Bachelor of Computer Application) है 

इस कोर्स करने के बाद आपके पास जॉब के ज्यादा चांस होते है . इस कोर्स करने के बाद आपको कही जॉब ढूढने के जरुरत नहीं है .इस कोर्स करने के बाद आप किसी भी कंप्यूटर रिलेटेड कंपनी कंपनी में अपना इंटरव्यू  देने जा सकते है . एक बार जब आपका इंटरव्यू complete हो जाता है उसके बाद आपके पास बहुत सारे कंपनीयों के आफर आने शुरू हो जाते है . आज हम आपको बीसीए (BCA) के बारें में अनेक जानकारियां देंगे -जैसे – बीसीए( BCA)  कोर्स क्या है , बीसीए( BCA) कोर्स में क्या पढाया जाता  है ,बीसीए( BCA)  कोर्स के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए ,बीसीए( BCA) कोर्स के लिए पढाई कैसे करें .

बीसीए( BCA) कोर्स क्या हैं –

बीसीए( BCA) एक अंडरग्रेजुएट (Undergraduate)  डिग्री है ये तीनसाल का होता है . इसमें आपको कंप्यूटर से रिलेटेड फील्ड में जाने के लिए तैयार किया जाता है . इसमें आपको आईटी सम्बंधित जो भी चीजें है उनके बारें में बताया जाता है . इस कोर्स  को करने के बाद आपको कंप्यूटर से रिलेटेड कई चीजों का ज्ञान हो जाता है , जैसे एक software कैसे बनता है , आप एक सॉफ्टवेर कैसे बना सकते ,

बीसीए कोर्स (BCA Course) में क्या सिखाया जाता है –

  • इस कोर्स में आपको कंप्यूटर एप्लीकेशन (computer application), कंप्यूटर साइंस (computer science) से रिलेटेड कोर्स के बारें में बताया जाता है .
  • इस कोर्स में आपको कंप्यूटर से रिलेटेड लैंग्वेज जैसे – C-LANGUAGE  , java language  के बारें में बताया जाता है .
  • इस कोर्स में आपको website डिजाइनिंग के बारें में बताया जाता है
  • बीसीए में आपको कंप्यूटर नेटवर्किंग से सम्बंधित कोर्स के बारें में भी बता जाता है .
  • बीसीए में आपको सॉफ्टवेर कैसे बनाया जाता है के बारें में भी बताया जाता है .

website designing के बारे में जान्ने के लिए हमारे इस लिंक पर क्लिक करें .

बीसीए कोर्स के लिए योग्यता (Eligibility for Bca Course in Hindi)-

जैसा की अभी हमने आपको बताया की  बीसीए  कोर्स के लिए आपको सबसे पहलें 12 वी उत्तीर्ण करना होता है , कुछ कॉलेज में BCA के लिए साइंस सब्जेक्ट मांगते है या फिर 12th में मैथ्स या फिर कंप्यूटर साइंस मांगते है.12 वी पास के बाद आप बीसीए कोर्स के लिए अप्प्लाय कर सकते है , इस कोर्स को आप किसी भी सरकारी या प्राइभेट कालेज  से कर सकते है .इस कोर्स करनेके लिए आपको 12 वी में कम से कम 45 या 50% माक्स लाने होते है .

बीसीए(BCA) के लिए कैसे करे अप्प्लाय –

बीसीए कोर्स के लिए आप 12 वी पास के बाद अप्प्लय कर सकते है . बीसीए कोर्स्कारने के लिए आपको एक प्रवेश परीक्षा देनी होती है और उस परीक्षा में पास होने के बाद ही आपको बीसीए में  प्रवेश मिलता है . बीसीए कोर्स करने के  लिए आपको हाई स्कूल में आपको कोमर्स और गणित में प्रोजेक्ट्स देने की कोशिश करनी चाहिए  क्योकि आपको बीसीए कोर्स में गणित में बहुत मदद मिलती  है , क्योकि आपको बीसीए कोर्स में थोडा ताप गणित पढाया जाता है . अगर आप 10 के बाद आर्ट साईट के सब्जेक्ट चुनते है तो आप बीसीए  के लिए अप्प्लाय तो कर सकते है लेकिन यहाँ आपकी गणित बहुत कमजोर हो जाती है , और आपको बीसीए कोर्स करने के लिए परेशानी हो सकती है .

कहाँ से करें बीसीए कोर्स

आज के समय में बहुत सारे बीसीए कॉलेज है है जहां से आप इस कोर्स को कर सकते है . अगर आपको कालेज  के बारें में कोइ भी दिक्कत होती है तो आप इन्टरनेट में सर्च कर सकते और अपने शहर के नजदीकी कालेज से बीसीए का कोर्स कर सकते है .

अगर आप बीसीए कोर्स  को रेगुलर काँलेज से कर सकते है . अगर आप बीसीए कोर्स को रेगुलर नहीं करना चाहते है तो इसे आप ओपन यूनिवर्सिटी से भी कर सकते है .अगर आप ओपन यूनिवर्सिटी से बीसीए का कोर्स करते है तो इसके लिए आपको कोइ प्रवेश परीक्षा देने की जरुरत नहीं है . अगर आप रेगुलर बीसीए कोल्लागे करते हो तो आपको इसका बहुत फायदा मिलता है

बीएड की जानकारी के लिए इस लिंक पर क्लिक करें  

बीसीए (BCA) कोर्स की पढाई कैसे करे-

अगर बीसीए कोर्स की पढाई की बात करें तो  इसके लिए आपको सबसे पहले 10 और 12 में अछे मार्क्स लाने होते है . आप चाहें तो 10 या 12 में कंप्यूटर सब्जेक्ट्स चुन सकते है . इसके बाद जब आपका बीसीए काँलेज में प्रवेश हो जाता है तो  यहाँ आपको कंप्यूटर से रिलेटेड कोर्स के बारें में साड़ी जानकारियां दी जाती .

बीसीए कोर्स 3 साल का होता  है और इसमें 6 सेमेस्टर होते है ,आपको इन सभी सेमेस्टरों में पास होना पड़ता  है  और इसमें  प्रोजेक्ट्स भी बनाना पड़ता है . बीसीए कोर्स में आपको कंपूटर से रिलेटेड चीजें तो  सिखायी ही जाती है इसके साथ ही आपको सभी सेमेस्टरों में कंप्यूटर की बेसिक चीजें जैसे -application बनाना और website design  जैसी चीजें सिखाई जाती है .

इंटर्नशिप के लिए अप्लाई करे-

बीसीए कोर्स करने के बाद आप किसी भी  कंप्यूटर फील्ड या फिर आईटी कम्पनी में इंटर्नशिप के लिए अप्लाई कर सकते है . बीसीए कोर्स करने के बाद आपके काँलेज में भी बहुत सारी कम्पनियां आती है जिसमें  इंटर्नशिप के लिए अप्लाई कर सकते है . अगर आपको कोइ कंपनी सेलेक्ट कर लेती है ,तो उसमें आपको किस तरह से web design किया जाता है इसमें आपको पूरी तरह से परफेक्ट कर दिया जाता है .जब आप सब चीजें पूरी तरह से सीख जातें है तो तब किसी भी कंपनी में जाब कर सकते है .

अंतिम राय –

आज हमने आपको बीसीए (BCA) क्या है के बारें में अनेक जानकारियां दी जैसे -बीसीए( BCA)  कोर्स क्या है , बीसीए( BCA) कोर्स में क्या पढाया जाता  है ,बीसीए( BCA)  कोर्स के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए ,बीसीए( BCA) कोर्स के लिए पढाई कैसे करें .

आपको यह लेख कैसा लगा नीचे comment कर के जरुर बताइए अगर अभी भी कोई सवाल आप पूछना चाहते हो तो निचे Comment Box में जरुर लिखे| और कोई सुझाव देना चाहते हो तो भी जरुर दीजिये| हमारे Blog को अभी तक अगर आप Subscribe नहीं किये हैं तो जरुर Subscribe करें| जय हिंद, जय भारत, धन्यवाद |

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

About the author

Vinod Pant

Leave a Comment

%d bloggers like this: