तकनीक

Computer Virus क्या होता है वायरस के कितने प्रकार है

Written by Jagdish Pant

दोस्तों आज हम आपको Computer Virus क्या होता है वायरस के कितने प्रकार है इस के बारे में महत्वपूर्ण बाते  बताने वाले है | आज के युग में हर व्यक्ति computer और  मोबाईल का इस्तमाल करते है और बहुत से लोगों को पता ही नहो होगा की computer वायरस क्या होते है आज हम आपको इसी के बारे में अधिक से अधिक जानकरी देने वाले है

जैसे वायरस हमारे स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होते है| जो हमारे शरीर में अनेक प्रकार की बीमारी फैलता है उसी तरह computer वायरस हमारे computer के लिए हानिकारक होता है

Computer Virus क्या होता है वायरस के कितने प्रकार है

computer virus एक प्रकार का software प्रोग्राम है जो हमारे computer के data को delete करने  या डाटा को हानि पहुचाने का कार्य करता है computer वायरस हमारे जानकरी के बिना हमारे System को भी खराब कर सकता  है फिर इसे ठीक करना बहुत ही मुश्किल होता है| हमारा computer बहुत से  software programs से चलता है| इस programs  के बिना हमारा computer नही चल सकता|  कुछ software programs computer को सही तरह से काम करने के लिए बनाये जाते हैं और कुछ  programs computer  को  बिगाड़ने के लिए भी बनाये जाते हैं

जिस तरह computer का आविष्कार एक इन्सान ने किया था और उसी तरह computer program को भी इन्सान ने ही बनाया|  इसी तरह computer वायरस का आविष्कार इंसान ने ही किया और यह वायरस जान बुझ कर बनाया गया था

वो वायरस इसलिए बनाते है, ताकि इस वायरस की मदद से दुसरे का डाटा चोरी कर सके, ये उसको पूरी तरह से मिटा सके.

Computer Virus क्या होता है वायरस के कितने प्रकार है

कंप्यूटर वायरस की History

computer virus का आविष्कार रॉबर्ट थॉमस ने किया था| वह जब BBN Technologies में काम करते वक़्त उन्होंने सबसे पहले computer वायरस को सन 1971 में देखा था इससे पहले  वायरस का नाम “क्रीपर” वायरस (Creeper virus) था|

कंप्यूटर वायरस क्या कर सकते है

कंप्यूटर वायरस आपके computer में मैजूद data को corrupt या फिर delete कर सकते हैं और आपके hard disk में store किये हुए data को पूरी तरह सेखत्म कर सकता है और यह आपके ई-मेल संलग्नक  (e-mail attachments) के जरिए  आपके computer में  भी जा सकता है और आपके computer को खराब भी कर सकता  है यह आपके computer की  speed को बहुत कम कर देता है इसके साथ आपके computer में स्थित files और program को खत्म कर सकता हिया

Virus क्या कर सकता है

वायरस आपके computer के लिए बहुत ही खतरनाक है अगर कभी आपके computer में वायरस चला जाता है तो यह आपके computer को पूरी तरह से ख़राब कर सकता है

computer वायरस आमतैर पर computer से डाटा को लिक करने का काम करते है

computer वायरस अनेक प्रकार के होते है कुछ वायरस computer के  सॉफ्टवेयर को हानी पहुचाते है और कुछ  वायरस computer के हार्डवेयर को हानि पहुचाते है|

कंप्यूटर वायरस कैसे फैलता है

computer वायरस एक computer से दुसरे computer में आ सकते है अगर आप इंटरनेट का इस्तमाल करते है और आपके computer में Antivirus नही है तो आपके computer में वायरस आ सकते है|

अगर आप अपने computer में किसी और का पेन ड्राइव लगते है और  उस पेन ड्राइव में वायरस है तो वह वायरस आपके computer में भी आ सकते है  अगर आप अपने computer में  SD card  जोड़ते है तो  इस वजह से भी वायरस हमारे कंप्यूटर में आ सकता है.

वायरस के प्रकार

1. Boot Sector Virus

यह वायरस बहुत ही खतरनाक है | यह वायरस हमारे master boot record को हानी पहुचाता है और इस वायरस को computer से निकालना बहुत ही मुश्किल होता है| इस कारण से हमे  कम्पुटर फॉर्मेट करना पड़ता है

2. Overwrite Virus

ये वायरस हमारे कंप्यूटर की फाइल को डिलीट कर देता है, फाइल्स डाटा को ओवरराईट करता है.

3.पार्टीशन टेबल वायरस (Partition Table Virus) – 

इस प्रकार के वायरस हार्ड डिस्क को विभाजित या नुकसान पहुचाहते है. यह हार्डडिस्क के मास्टर बूट रिकार्ड को प्रभावित करता है लेकिन यह computer के डाटा को नुकसान नही पहुचती है तथा इसके अनेक परिणाम है

  • यह मास्टर बूट रिकार्ड के उच्च प्राथमिकता वाले स्थान पर अपने आप को क्रियान्वित करते है|
  • यह रैम की क्षमता को कम कर देते है|
  • यह डिस्क के इनपुट/आउटपुट नियंत्रक प्रोग्राम में त्रुटी उत्पन्न करते है|

IRCTC क्या है और IRCTC में नया Account कैसे बनायें

Input Device क्या है और इसके प्रकार (what is input device in hindi)

CDN क्या है और आपके Website/Blog केलिए क्यों जरुरी है?

Cloud computing क्या है ( what is Cloud Computing in Hindi)

घर बैठे बिना किसी investment के पैसे कमायें (how to make money )

Reliance jio fiber plan – jio Giga fiber broadband plans

डिजिटल सिग्नेचर क्या है (What is digital signature in Hindi)

Jio broadband Jio Fiber में यूज़र को हर महीने मिल रहा है 1.1 टीबी मुफ्त डेटाः

BS3 और BS4 Engine क्या है? और इन दोनों मे क्या अंतर है?

4.फ़ाइल वायरस (File Virus) – 

यह वायरस computer के file को नुकसान पहुचता है तथा इसके साथ ही यह exe फ़ाइल को नुक्सान पहुचता हैं इसलिए इसे फाइल वायरस  कहते है

5.गुप्त वायरस (Stealth Virus)-

यह वायरस हमारे computer में अपनी पहचान छुपाने का हर संभव प्रयास करता है इसलिए गुप्त वायरस कहा जाता हैं|

6.पॉलिमार्फिक वायरस (Polymorphic Virus)-

यह वायरस अपने आप को बार – बार बदलने की क्षमता रखता है ऐसे वायरस को रोकना अत्यंत कठिन होता है|

7.मैक्रो वायरस (Macro Virus) – 

यह वायरस विशेष प्रकार के फ़ाइल जैसे डाक्यूमेंट, स्प्रेडशीट इत्यादि को क्षतिग्रस्त करने के लिए होते है |  और यह वायरस केवल Micro Software Office की फाइलों को नुकसान पहुचता हैं|

वायरस से कंप्यूटर को कैसे बचाए:

computer में वायरस को खत्म करने के कुछ तरीके

1. इनस्टॉल एंटीवायरस सॉफ्टवेयर:

यह  एंटीवायरस  हमारे computer के लिए बहुत ही जरूरी है और यह एंटीवायरस हमारे कम्पुटर सिक्यूरिटी प्रोवाइड कराता है और यह हमारे computer को वायरस से बचाता है आप इस एंटीवायरस का इस्तमाल कर सकते है

2. इन्टरनेट से unknown files, software डाउनलोड ना करे :

आप जब इन्टरनेट का इस्तमाल करते है तो उस समय यह घ्यान रखे की किसी भी वेबसाइट से अननोन फाइल्स, सॉफ्टवेयर डाउनलोड ना करे| कभी कभी इन file में वायरस भी  होते है

3. पायरेटेड सॉफ्टवेयर इस्तमाल ना करे :

बहुत से लोग  पायरेटेड सॉफ्टवेयर का प्रयोग करते है लेकिन यह सॉफ्टवेयर बहुत ही हानिकारक होते है

अंतिम राय

दोस्तों आज हमने आपको Computer Virus क्या होता है वायरस के कितने प्रकार है , कंप्यूटर वायरस की History , कंप्यूटर वायरस क्या कर सकते है ,वायरस के प्रकार ,वायरस से कंप्यूटर को कैसे बचाए के बारे में आपको महत्वपूर्ण जानकरी मिली होगी| मुझे पूर्ण आशा है की आपको यह आतिर्कल पसंद आया होगा |

आपको यह लेख कैसा लगा  निचे comment कर के जरुर  बताइए अगर अभी भी  कोई सवाल आप पूछना चाहते हो तो निचे Comment Box में जरुर लिखे| और कोई सुझाव देना चाहते हो तो भी जरुर दीजिये| हमारे Blog को अभी तक अगर आप Subscribe नहीं किये हैं तो जरुर Subscribe करें| जय हिंद, जय भारत, धन्यवाद|

 

 

About the author

Jagdish Pant

Leave a Comment

%d bloggers like this: