Uncategorized

MICR Code क्या है और ये IFSC Code से कैसे अलग है?

Written by Jagdish Pant

MICR Code – MICR का फुल फॉर्म Megnetic Ink Character Recognizer है | बड़ी मात्रा में चेक (cheques) की तेजी processing के लिए बैकिंग industries एमआईसीआर का उपयोग किया जाता है। MIRC कोड में बैंक की पहचान कोड (नाम, शाखा, आदि) और चेक नंबर पहले से ही encode होता है MICR रीडर, चेक पर डेटा पढ़ता है और उसे आगे की प्रतिक्रिया के लिए टाइप कर देता है
एक्सिस बैंक लिमिटेड की जांच में एमआईसीआर कोड का एक उदाहरण नीचे दिया गया है

MICR Code क्या है

जैसा की MICR कोड के नाम से ही पता चल रहा है की character recognition technology पर आधारित है जिसका उपयोग बैंक cheque clearance के लिए करता है यह कोड सबसे निचे लिखा होता है जैसा की आप ऊपर दी हुई img में देख रहे होंगे इसे MICR बैंड भी कहते है और भारतीय रिजर्व बैंक इस MICR कोड का प्रयोग बैंक ब्रांच की पहचान और चेक पास करने के लिए करती है और इस कोड के जरिए चेक की सुरक्षा बड़ती है किसी भी MICR code को पढने के लिए MICR reader का प्रयोग किया जाता है |

MICR code 9 नम्बर का होता है और यह इलेक्ट्रॉनिक clearing सिस्टम में शामिल किसी भी बैंक की पहचान होता है| इस 9 अंकों में 3 अंक आपके शहर के होते है और उसके बाद तीन नंबर आपके शहर के होते है और आखरी 3 नम्बर बैंक के ब्रांच के बारे में बताते है.

IFSC और MICR कोड के बीच क्या अन्तर है?

IFSC code और MICR code बैंकिंग उद्योग में फाइनेंसियल ट्रांजेक्शन के लिए प्रयोग किए जाते हैं यह code पैसों को एक स्थान से दुसरे स्थान पर स्थानान्तरित करने में प्रयोग किए जाते हैं । फिर भी बहुत कम लोग IFSC code और MICR code के बारे में जानते है|

IFSC code और MICR code में अंतर

IFSC code

  • IFSC code भारत का एक फाइनेंस सिस्टम code है इसका प्रयोग NEFT में किया जाता है
  • IFSC code का प्रयोग ऑनलाइन पेमेंट में भी किया जाता है

MICR code

  • MICR code में मग्नेटिक कैरेक्टर का इस्तमाल किया जाता है और वह चेज के निचे सफेद लाइन में होती है जिसे MICR बैंड भी कहा जाता है इसका प्रयोग अंतर्राष्ट्रीय ट्रांजेक्शन में किया जाता है
  • MICR code काफी अच्चा और सहूलियत भरा 9 अंको का कोड होता है

IFSC कोड का पूरा नाम (full form of IFSC )

यह भारत का सबसे तेज सिस्टम का कोड है। IFSC का फुल फॉर्म (Indian Financial Standard Code) है IFSC का हिंदी में पूरा नाम भारतीय वित्तीय मानक संहिता है यह ब्रांच कोड से शुरू होता है IFSC code 11 नंबर की अल्फा न्यूमेरिक कोड है, इसमें पहले चार अंक बैंक का पता करने के लिए होते है| पांचवां संख्यात्मक है (0 रखा गया है) और आखरी के 6 अंक बैंक की ब्रांच का पता करने के लिए होते है

MICR की शुरुवात कब से हुई

MICR code का प्रयोग भारत में सन 1980 में किया गया था इस सिस्टम को सबसे पहली बार cheque clearing system के प्रयोग में लाया गया था| इस तरह से भारत में code का प्रयोग होने लगा

कैसे MICR Cheques की Processing में तेज़ी लाती है?

क्या आपको पता है की MICR code का प्रयोग करने के बाद आपका चेक जल्दी कैसे पास होता है या चेक कैसे क्लियर होता है MICR code का उपयोग से पहले चेज को मैनुअरी क्लियर किया जाता है और इसमें गलती होने के संभावना बहुत ज्यादा होती है इसके चलते ही चेक प्रोसेस में काफी समय लग जाता था लेकिन आज MICR यूनिट code को प्रिंट किया जाता है जो बड़े आसाम से कार्य करता है

अंतिम राय

दोस्तों आज हमने आपको MICR Code क्या है और ये IFSC Code से कैसे अलग है? , MICR Code क्या है ,IFSC और MICR कोड के बीच क्या अन्तर है? ,IFSC कोड का पूरा नाम (full form of IFSC ) के बारे में अधिक से अधिक जानकरी देने का प्रयास किया है
आपको यह लेख कैसा लगा नीचे comment कर के जरुर बताइए अगर अभी भी कोई सवाल आप पूछना चाहते हो तो निचे Comment Box में जरुर लिखे| और कोई सुझाव देना चाहते हो तो भी जरुर दीजिये| हमारे Blog को अभी तक अगर आप Subscribe नहीं किये हैं तो जरुर Subscribe करें| जय हिंद, जय भारत, धन्यवाद |

About the author

Jagdish Pant

Leave a Comment

%d bloggers like this: