Uncategorized

OBC क्रीमी लेयर और नॉन क्रीमी लेयर क्या है

obc creamy layer
Written by Vinod Pant

OBC क्रीमी  लियर एक भारतीय शब्द है . जिसका हिन्दी में अर्थ मलाईदार परत है  यह  अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) के अपेक्षाकृत आगे और बेहतर शिक्षित सदस्यों को संदर्भित करता है जो सरकारी प्रायोजित शैक्षणिक और व्यवसायिक लाभ कार्यकर्मों के योग्य नहीं है.  क्रिमिलियर शब्द 1971 में सट्टानाथन आयोग द्वारा पेश किया गया था और  इसमें ये निर्देश दिया गया था की क्रीमी लेयर को  नागरिक पदों के आरक्षण (कोटा) से बहार रखा जाना चाहिए .

क्या है ओबीसी क्रीमी लेयर? –

क्रीमी लियर ओंबीसी में  वह  वर्ग होता है जिसमें आने  वाले  OBC लोग आरक्षण के दायरे से बहार हो जाते है.  जितने भी सरकारी  नौकरी या शिक्षण संस्थान हैं उनमें  ओबीसी  के लिए 27% आरक्षण है लेकिन इस के लिए उस परिवार की वार्षिक आय   वार्षिक आय 6 लाख रुपये थी , जिसे  बढाकर 8 लाख रूपये कर दिया गया . साल 1993 में ये आय 1 लाख रुपये थी . लेकिन इसके बाद इसे तीन बार दिया गया है . सन 2004 में इस आय सीमा को बढाकर 2.5 लाख रुपये कर दिया गया ,2008 में इस आय को फिर से  बढाकर4.5 लाख रुपये कर दिया वही 2013 में इस आय को बढाकर 6लाख कर दिया . 2017 में इसे फिर से एक बार 8 लाख कर दिया .

Image result for obc creamy layer

OBC नॉन क्रीमी लेयर क्या है-

नॉन क्रीमी लेयर के अन्दर वह ओबोसी वर्ग आता है जिसकी वार्षिक आय 8 लाख रुपये से कम है . इन परिवारों को ही 27% आरक्षण का लाभ मिलता है

creamy layer meaning in hindi

भारत के सुप्रिम्कोट ने नॉन क्रीमी लियर को 8 सितम्बर 1993 एक भारतीय कार्यालय के ज्ञापन का हवाला देते हुए परिभाषित किया था . क्रीमी लेयर शब्द  मूल रूप से 1992 में कुछ समूहों के लिए नौकरियीं  के आरक्षण के सम्बन्ध में पेश किया गया था . सुप्रीमकोर्ट का कहना था की आरक्षण का लाभ सवैधानिक कार्यकर्ताओं के बच्चों को नहीं दिया जाना चाहिए .

क्रीमी कियर में व्यापार, उद्योग और व्यवसाय जैसे डॉक्टर, वकील, चार्टर्ड एकाउंटेंट, आयकर सलाहकार, वित्तीय या प्रबंधन सलाहकार, दंत सर्जन, इंजीनियर, कंप्यूटर विशेषज्ञ, फिल्म कलाकार और अन्य फिल्म पेशेवर, लेखक, नाटककार, खेल में लगे व्यक्तियों के बच्चे व्यक्ति, खेल पेशेवर, मीडिया पेशेवर या ऐसी स्थिति के किसी भी अन्य व्यवसाय जिनकी वार्षिक आय लगातार तिन वर्षो की अवधि के लिए 800,000 (8 लाख रुपये) है , को भी बहार रखा गया है . ओबीसी के बच्चे लगातार तीन  वर्षों की अवधि के लिए 6 लाख रूपये से कम की कुल सकल वार्षिक आय (वेतन और कृषि भूमि [12] [13] के अलावा अन्य स्रोतों से कमाते हैं. 1993 की आयु सीमा के लिए क्रीमी लियर ₹ 100,000 (1 लाख रुपये, जब कार्यालय ज्ञापन स्वीकार किया गया था) से लगातार तीन वर्षों (मई 2013 में) के लिए 6 लाख रुपये तक बढ़ाया गया था. 

Caste system in India-

1993 में गाधी जी ने दलितों के लिए भारत व्यापी दौरे पर मद्रास (जो अब चेन्न्य) का दौरा किया . इस तरह के पर्यटन और लेखों के दौरान गाँधी जी के भाषणों ने भेदभाव -भारतीय जातियों के खिलाप चर्चा की . भारत में जाति वयवस्था  जाति के प्रतिमान वादी नृवंशविज्ञान का उधाहरण है. माना जाय तो ये प्राचीन भारत की उत्त्पत्ति है और  मध्यकालीन, प्रारंभिक आधुनिक और आधुनिक भारत में विशेष रूप से  मुग़ल साम्राज्य और ब्रिटिश राज्य के कारण  विभिन्न शाशक वर्गों के द्वारा परवर्तित किया गया था . आज के समय में यही भारत में शैक्षणिक और नौकरी आरक्षण का आधार है.

स्वतंत्रता हासिल करने के बाद भारत में अनेक नई घटनाये हुयी . इस समय अनुसूचित जातियों और अनुसूचित जनजातियों की सूची के साथ जाति आधारित जाति के आरक्षण की नीति औपचारिक रूप से लागू की गई थी। 1950 से भारत देश ने अपनी निचली जाति की आबादी की सामाजिक और आर्थिक स्थितियों  के रक्षा के लिए कई कानून  और सामाजिक पहलों को अधिनियमित किया है . कॉलेज के प्रवेश कोटा , नौकरी आरक्षण और अन्य सकारातमक कार्यवाही  पहल के लिये जाति वर्गीकरण ,भारत के सुप्रीमकोर्ट के अनुसार अनुवांशिकता पर आधारित है और ये परवर्तन शील भी नहीं है .

What is a non creamy layer certificate?

ये एक प्रमाण पत्र है जो ओबीसी उम्मीदवार को दिया जाता है . इस प्रमाण पत्र के माध्यम से ओबीसी उम्मीदवार ये साबित कर सकता है की उसके

  • माता-पिता की वार्षिक आय सभी स्रोतों से 6 लाख से अधिक नहीं है।
  • ये प्रमाणपत्र उस ओबीसी उम्मेदवार को (जिसकी माता-पिता की वार्षिक आय सभी स्रोतों से 6 लाख से अधिक नहीं है) को सरकारी भर्ती में ओबीसी उम्मीदवार को दिए गए आरक्षण के लाभ लेने के योग्य बनाता है.
  • गैर कर्मी लियर सर्टिफिकेट होने पर उम्मीदवार को आरक्षण लागू नहीं होगा . भले ही वह उम्मीदवार ओबीसी वर्ग से ही सम्बंधित क्यों न
    हो .
  • केवल उसी उम्मीदवार को 27% आरक्षण का लाभ मिलता है जिसके माता-पिता की वार्षिक आय सभी स्रोतों से 6 लाख से अधिक नहीं है

आज हमने आपको  OBC क्रीमी लेयर और नॉन क्रीमी लेयर क्या है के बारें में अनेक जानकारियां दे जैसे – क्या है ओबीसी क्रीमी लेयर?, OBC नॉन क्रीमी लेयर क्या है, creamy layer meaning in hindi,What is a non creamy layer certificate? आदि .

आपको यह लेख कैसा लगा  नीचे comment कर के जरुर  बताइए अगर अभी भी  कोई सवाल आप पूछना चाहते हो तो निचे Comment Box में जरुर लिखे| और कोई सुझाव देना चाहते हो तो भी जरुर दीजिये| हमारे Blog को अभी तक अगर आप Subscribe नहीं किये हैं तो जरुर Subscribe करें| जय हिंद, जय भारत, धन्यवाद |

 

 

 

About the author

Vinod Pant

Leave a Comment

%d bloggers like this: