medicine and fitness

Patanjali Aloevera Gel in Hindi (पतंजलि एलोविरा जैल)

Patanjali Aloevera Gel in Hindi (पतंजलि एलोविरा जैल)
Written by Vinod Pant

hello दोस्तोँ funfreak में आपका स्वागत है .

आज में आपको इस आर्टिकल के माध्यम से patanjali aloe vera gel uses in hindi के बारें में जानकारियाँ दूंगा जैसे -पतंजलि एलोवेरा जेल कैसे प्रयोग करें, क्या हैं इसके फायदे , पतंजलि जैल सामाग्री आदि .

एलोवेरा का हिंदी नाम घृत कुमारी भी है . ये एक चमत्कारी ओषधि भी है . एलोवेरा के पतो में विटामिन B1, विटामिनबीB2, विटामिनB3,  विटामिनB6 ,  विटामिनB12 ,विटामिन c , विटामिन E और फोलिक एसिड जैसे पोषक तत्व पाये जाते है . एलोवेरा के रस में पाए जाने वाले खनिज आयरन ,ताबां , सोडियम ,कैल्शियम , जिंक , मेनेशियम ,मैगनीज है , एलोवेरा न केवल सामान्य  बीमारियों को जड़ से ख़तम करता है बल्कि घातक बिमारियों को भी जड़ से ख़त्म करने में सहायक है . स्वास्थ विशेषग्य एलोवेरा को प्रक्रति की एक प्रभावशाली जड़ी बूटी मानते है

पतंजलि एलोविरा जैल-

पतंजलि ऐलोबेरा जैल सूर्यदाह, दंश, त्वचा संबंधी समस्याएं, त्वचा, मामूली कटाव, मामूली जलने की चोट, मामूली त्वचा की जलन, त्वचा की समस्या, त्वचा की जलन और अन्य स्थितियों के उपचार के लिए निर्देशित किया जाता है।

क्या आपने ये पड़ा 

रिवाइटल क्या है रिवाइटल के फायदे और नुकसान

पतंजली जैल को कैसे प्रयोग करें –

दोस्तोँ अब हम आपको बतातें है की पतंजलि एलोवेरा जेल को कैसे प्रयोग करें .  पतंजलि एलोवेरा  स्किन को साफ करता है ठंडक देता है और नमी प्रदान करता है,

पतंजलि एलोवेरा जेल को यूज़ करना बहुत ही आसन है . पहले आप अपने मुंह को साफ़ पानी से धोये उसके बाद थोडा से पतंजलि जेल को हाथों में लेकर क्रीम की तरह मुह में लगायें . अगर आप चाहें तो इसमें फेस पैक मिलाकर  भी चेहरे पर लगा सकते है  .

क्या हैं पतंजलि जैल के  फायदे –

पतंजलि जैल के क्या फायदे है इसके बारें में हम आपको बतातें हैं .

 

डार्क सर्कल- पतंजलि जैल का लगातार प्रयोग  डार्क सर्कल  दूर करने में सहायक है –

कील मुहांसे- पतंजलि जेल का लगातार प्रयोग से आपको कील मुहांसे से भी जल्द छुटकारा मिल जाता है .

सन बर्न- दोस्तोँ अक्सर आपने देखा होगा की जब आप कभी भी  धुप में निकलते है तो हमारें मुह में  काले धब्बे पद जाते है या फिर हमारी त्वचा कलि पद जाती है . अगर पतंजलि एलोवेरा  जैल का आप लगातार प्रयोग करते है तो आपको इन समस्याओं से जल्द छुटकारा मिल सकता है .

इसके अलावा पतंजलि एलोवेरा जैल  बालों के लिए , मसूड़ों  को मजबूत बनाने , कब्ज का कंट्रोल करने , एलोवेरा जूस वजन घटाने में, सुजन और दर्द से राहत ,महुमेह के रोगियों के लिए एक बहुत गुणकारी और लाभकारी औषधि है .

क्या आपको इसके बारें में जानकारी है –

Becadexamin कैप्सूल क्या है इसके फायदे और नुकसान

पतंजलि एलोवेरा जैल के नुक्सान –

पतंजलि एलोवेरा  एक लाभकारी औषधि होने के साथ – साथ एक गुणकारी औषधि भी  है  और एलोवेरा जैल को लगाना शुरक्षित माना गया  है लेकिन इसके कुछ नुक्सान भी है जो हम आपको बता रहे है .

एलोवेरा रस में एक Anthraquinone नामक पदार्थ होता है जो रेचक है और बड़ी मात्रा में लिए जाने पर ऐंठन, निर्जलीकरण और दस्त का कारण बन सकता है .

गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को एलोवेरा जूस लेने से बचना चाहिए। गर्भवती महिलाओं के गर्भाशय के संकुचन से गर्भपात और जन्म दोष हो सकते हैं। स्तनपान कराने वाली महिलाओं को भी इसे नहीं लेना चाहिए क्योंकि इसका Anthraquinone दस्त का कारण बन सकता है। यह 12 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए भी असुरक्षित है .

एलोवेरा जैल को अधिक मात्र  में लेंने से रक्त के निर्माण में दिक्कत हो सकती है ,और हमारे गुर्दों  में भी दिक्कत हो सकती है.

ज्यादा एलोवेरा जूस पीने के दुष्प्रभाव प्रमुख रुप से उन लोगों के लिए होते हैं जो बताई गई खुराक से ज्यादा मात्रा में इसका उपभोग करते हैं।

अंतिम राय-

आज हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से Patanjali Aloevera Gel in Hindi (पतंजलि एलोविरा जैल) के बारें में अनेक जानकारियाँ दी जैसे – patanjali aloe vera gel uses in hindi के बारें में जानकारियाँ दूंगा जैसे -पतंजलि एलोवेरा जेल कैसे प्रयोग करें, क्या हैं इसके फायदे , पतंजलि जैल सामाग्री आदि .

आपको यह लेख कैसा लगा नीचे comment कर के जरुर बताइए अगर अभी भी कोई सवाल आप पूछना चाहते हो तो निचे Comment Box में जरुर लिखे| और कोई सुझाव देना चाहते हो तो भी जरुर दीजिये| हमारे Blog को अभी तक अगर आप Subscribe नहीं किये हैं तो जरुर Subscribe करें| जय हिंद, जय भारत, धन्यवाद |

 

About the author

Vinod Pant

Leave a Comment

%d bloggers like this: